PV Sindhu Biography In Hindi
पुसरला वेंकट सिंधु

दोस्तों इंडिया में काफी बेहतरीन स्पोर्ट्स प्लेयर हैं और उन्हीं में से एक बेस्ट प्लेयर का नाम आता है PV Sindhu का। ये एक फेमस इंडियन बैडमिंटन प्लेयर हैं और इन्होंने इंडिया को इंटरनेशनल मैं भी रिप्रेजेंट किया है। भारत में शायद ही इनसे कोई अच्छा बैडमिंटन खेलता हो और इन्होंने बैडमिंटन में काफी ज्यादा मेडल्स भी जीते हैं और ये आजकल ओलंपिक में दिखाई दे रही हैं। तो आज की इस आर्टिकल में हम बात करेंगे इंडिया की यंग प्लेयर PV Sindhu के बारे में तो शुरू करते हैं इनकी बायोग्राफी से।

PV Sindhu का पूरा नाम है Pusarla Venkata Sindhu और इनका जन्म 5 जुलाई सन 1995 को हुआ था हैदराबाद में और अगर इमेज की बात करें तो 2021 के हिसाब से इनकी एज अभी सिर्फ 26 वर्ष है। अगर इनके फिजिकल मेज़रमेंट की बात करें तो इनकी हाइट है 5 फीट 10 इंच और वजन है 65 किलोग्राम।

PV Sindhu ने अपनी स्कूली शिक्षा Auxilium High School से करी थी जो कि सिकंदराबाद में था और इसके बाद ही ये पढ़ने के लिए St. Ann's College for Women गई थी और इनकी क्वालिफिकेशन की बात करें तो इनके पास M.B.A में 1 डिग्री है। अगर हम इनके पहले इंटरनेशनल मैच की बात करें यानी कि इंटरनेशनल डेब्यू की बात करें तो वो इन्होंने सन 2009 में खेला था सब जूनियर एशियन बैडमिंटन चैंपियनशिप और ये कोलंबो में था।

हर किसी के लिए अपना कोच काफी ज्यादा मायने रखता है तो इन के कोच हैं Pullela Gopichand। दोस्तों इनका कैरियर सन 2011 के बाद काफी ज्यादा बदल गया था क्योंकि तब इन्होंने Douglas Commonwealth यूथ गेम्स सिंगल इवेंट में एक गोल्ड मेडल जीता था और गोल्ड मेडल के साथ-साथ इन्हें काफी ज्यादा अवॉर्ड भी मिले हैं जैसे कि सन 2013 में इन्हें अर्जुन अवार्ड मिला था, सन 2015 में पद्मा श्री और सन 2016 में राजीव गांधी खेल रत्न अवॉर्ड।

दोस्तों ऐसा नहीं है की PV Sindhu बचपन से ही एक बैडमिंटन प्लेयर बनना चाहती थी बल्कि बचपन में इनका सपना था एक डॉक्टर बनने का और इनकी बड़ी बहन जिनका नाम है PV Divya। वो एक नेशनल लेवल हैंडबॉल प्लेयर थी और बाद में ये एक डॉक्टर बन गई।

PV Sindhu ने बैडमिंटन खेलना लगभग अपनी 8 साल की उम्र में शुरू कर दिया था और इन्होंने बेसिक स्पोर्ट्स इंडियन रेलवे इंस्टीट्यूट से सीखा था जोकि सिकंदराबाद में था और इसके बाद इन्होंने Pullela Gopichand की बैडमिंटन अकैडमी में दाखिला ले लिया और उसके बाद Pullela Gopichand ही इनके कोच बने।

एक और रोमांचक बात है PV Sindhu के पेरेंट्स भी एक वॉलीबॉल प्लेयर थे और उनके फादर जिनका नाम है PV Ramana इन्होंने सन 2000 में अर्जुन अवार्ड भी जीता था वॉलीबॉल में कंट्रीब्यूशन करने के लिए। PV Sindhu की बेस्ट परफॉर्मेंस सन 2012 में रही थी Li Ning China Master Championship में और तब इन्होंने सन 2012 की लंदन ओलंपिक गोल्ड मेडलिस्ट को हराया था।

सन 2013 में ये इंडिया की पहली सिंगल वूमेन बन गई थी जिन्होंने कोई मेडल जीता था बैडमिंटन वर्ल्ड चैंपियनशिप में और 30 मार्च सन 2015 को इनको इंडिया का चौथा सबसे बड़ा सिविलियन हॉनर मिला जिसका नाम है पद्मा श्री।

सन 2016 में PV Sindhu रियो ओलंपिक्स में भी दिखाई दी थी और इन्होंने फाइनल्स में अपनी जगह बनाई थी जापान की Nozomi Okuhara को सेमी फाइनल में हराकर और ये इंडिया की पहली सटलर बन गई थी जोकि ओलंपिक्स के फाइनल में पहुंची हो। पर ये फाइनल मैच हार गई थी स्पेन की Carolina Marin से। पर फिर भी इन्होंने सिल्वर मेडल जीता था रियो ओलंपिक में और इसके बाद गूगल पर इनकी कास्ट काफी ज्यादा सर्च होने लगी। 2016 के रियो ओलंपिक में सिल्वर मेडल जीतने के बाद आंध्र प्रदेश की गवर्नमेंट ने इन्हें अप्वॉइंट किया था ऐसा डिप्टी कलेक्टर ।

सन 2018 में Forbes ने इन्हें रैंक भी किया था सातवें पोजीशन पर सबसे अधिक भुगतान पाने वाली महिला एथलीट के रूप में और पीवी सिंधु अपना रोल मॉडल सचिन तेंदुलकर को मानती हैं। 2020 के टोक्यो ओलंपिक में इन्होंने ब्रोंज मेडल जीता था चाइना की Bing Jiao को हराकर और ये इनका सेकंड ओलंपिक मेडल था।

अगर इनकी फैमिली की बात करें तो इनके पिता का नाम है PV Ramana और इनकी मां का नाम है P Vijaya और इनकी एक बहन भी है। अगर इनके मनी फैक्टर की बात करें सोर्स के मुताबिक इनका टोटल नेट वर्थ है 44 करोड़ रुपए। अगर इनकी कार कलेक्शन की बात करें तो इनके पास एक BMW X5 कार है जिसकी कीमत 80 लाख रुपए।

तो दोस्तों हमें उम्मीद है कि आपको ये आर्टिकल पसंद आई होगी और अगर आपको ये आर्टिकल पसंद आई है तो हमें आप नीचे कमेंट करके जरूर बताएं धन्यवाद।

1 Comments

Post a Comment

Previous Post Next Post